हमारी मुहिम

डॉ अंबेडकर की गहरी सूझ बूझ और दूरदर्शिता के कारन आज हमारे पास एक ऐसा संविधान है जो अपने स्थापना के समय से बहुत आगे था । देश का संविधान ही उसके नागरिकों को सशक्त बनाता है, ऐसे में महत्वपूर्ण है की हम अपने संवैधानिक मूल्यों को संरक्षित करके रखें। यह हमारे देश के सुनहरे भविष्य के लिए व्यापक रूप से आवश्यक है।
अपने नेताओं का चयन और अपने पसंद की सरकार बनाने का अधिकार, यह ही हमारे लोकतंत्र की बुनियाद है। चुनाव किसी भी नागरिक के लिए एक ऐसा क्षण होना चाहिए जब वह सभी राजनीतिक दलों और उम्मीदवारों के सामने अपनी राय और अपेक्षाएं रख सके। हर भारतीय नागरिक को अपना नाम मतदाता सूची में दर्ज करने में सक्षम होना चाहिए, ख़ास कर तब जब भारत में 13.3 करोड़ युवा पहली बार मतदान करेंगे। देश के शासन में भाग लेने के उनके लोकतांत्रिक अधिकार और जिम्मेदारियों के बारे में उनकी समझ आने वाले वर्षों में भारत को अपनी क्षमता का एहसास कराने के लिए केंद्रीय है। यह वंचित समुदायों के युवाओं के लिए और भी अधिक महत्वपूर्ण है।

हम कौन हैं

हम व्यक्तियों और संगठनों का एक समूह हैं जो यह महसूस करता है कि इन बाधाओं को दूर करने के लिए और अपने संवैधानिक मूल्यों की रक्षा के लिए हमें कोई ठोस कदम उठाना चाहिए।

वोट करने का अधिकार - बिना किसी डर के

चुनाव के दिन, हर भारतीय को बिना किसी डर के व बेझिझक हो के अपना वोट डालना चाहिए। स्वतंत्र भारत में एक मत का अधिकार सभी को है। इन मौलिक अधिकारों के लिए कोई भी बाधा लोकतंत्र के रूप में भारत की विश्वसनीयता को खतरे में डालती है। हालांकि, वास्तविकता यह है कि चुनाव आयोग की कई कोशिशों के बावजूद, आम नागरिकों को कई सारी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। यह बाधाएं समाज के गरीब वर्गों, महिलाओं व अल्पसंख्यक समुदाय के लिए और भी गंभीर हैं।
मुहीम से जुड़ें

हम कौन हैं

हम व्यक्तियों और संगठनों का एक समूह हैं जो यह महसूस करता है कि इन बाधाओं को दूर करने के लिए और अपने संवैधानिक मूल्यों की रक्षा के लिए हमें कोई ठोस कदम उठाना चाहिए। हमारा लक्ष्य इस नो वोटर लेफ्ट बिहाइंड कैंपेन के माध्यम से अपने लोकतंत्र और उसके मूल्यों की रक्षा करना है (चुनाव आयोग के आह्वान के अनुरूप) जो 2019 के लोकसभा चुनाव के लिए मतदाताओं को शिक्षित और सशक्त करेगा। हम कई अन्य पहलों के बारे में भी जानते हैं जो हमारे लक्ष्य को साझा करते हैं। हम उनके साथ मिल के इस मुहीम में आगे बढ़ेंगे। हम सभी सरकारी अधिकारियों और राजनीतिक दलों के साथ मिलकर काम करेंगे जो मानते हैं की बिना झिझके वोट देना हर भारतीय का मौलिक अधिकार है। हमारी पूरी कोशिश रहेगी की हम इस कैंपेन को वाइरल बना सकें और हर घर तक पहुंचा सकें।
हम पहले से ही विश्वसनीय सिविल सोसाइटी संगठनों के साथ इस दिशा में काम कर रहे हैं जो ज़मीनी स्तर पर पहले से ही उम्दा काम करते आ रहे हैं। हम आने वाले दिनों में नेटवर्क का तेजी से विस्तार करेंगे।